Sponsor

banner image

recent posts

Dashrath manji - A True Love story दशरथ मांजी एक सच्ची प्रेम कहानी

Dashrath manji  - A true love story 
Dashrath manji - A True Love story दशरथ मांजी एक सच्ची प्रेम कहानी

दशरथ माँजी ये नाम हम में से शायद कई लोगों ने सुना भी ना हो। दशरथ माँजी गया बिहार के गहलौर  जिले में रहने बाले बहुत गरीब परिवार के सदस्य थे । ये बात उन दिनों की है जब हमारा देश आजाद हुआ था । हर तरफ बिकस हो रहा था । लेकिन उस समय गहलौर को पूर्ण भारत का सबसे पिछड़ा हुआ माना जाता था । यह पूरा गहलौर जिला एक 300फुट ऊंचे पहाड़ से घिरा हुआ था ।

उस पहाड़ की बजह से लोगो को घूम कर सड़क के रास्ते 35-40 km घूम कर जाना पड़ता था । जबकि पहाड़ के रास्ते सिर्फ आधे दिन का रास्ता था ।लेकिन सड़क से चलते हुए 2 दिन लग जाते थे । दशरथ  जब बचपन में छोटा था तब उसके पाप ने उसे बंधुआ मजदूरी के  लिए जमींदार के पास गिरबी रखबाने गया लेकिन दशरथ भाग गया ।जब बो 10 सालों बाद आया तब उसने देखा कि आज भी उसका गाव बैसा ही है । 
जब बो रास्ते में आ रहा था उसे एक लड़की दिखी उसे बो पसंद आ गई । उसे ये नी पता था कि ये बोही लड़की है जिसका बिबाह उसके साथ बचपन में हुआ है । फिर बो बस से उतर कर अपने गाँव चला गया । फिर जैसे बो घर गया उसका पापा उसे देख के हैरान हो गया कि ये मेरा ही लड़का है क्या ? क्यूंकि बो लोग तो मानते थे कि बो मर चुका है । फिर उसका पापा उसे उसके बीबी के घर लेके गया ताकि उसे बो घर ले सके । लेकिन जैसे बो बहां गए।

लकड़ी के बाप ने मना कर दिया लड़का भी खुश था कि चलो इसने मना कर दिया क्यूंकि उसे बो लड़की पसंद आ गयी थी । फिर बो जाने लगे  बापस तो उसने देखा बोहि लड़की सामने से पानी का घड़ा उठा के आ री थी । उसने अपने  पापा से पूछा ये लड़की कौन है ?तो उसका बाप बोला यही तो तेरी बीबी है बो हैरान हो गया । फिर बो बोलने लगा ये मेरी बीबी है और इसे अपने साथ लेके जाऊंगा ।लड़की का बाप मना कर रहा था ।कही ना कही लड़की भी उसे पसंद करती थी ।फिर  जब दशरथ को पता चला की उसकी बीबी की शादी उसका बाप कही और करवा रहा है तो बो उसे भगा के ले गया ।जैसे तैसे करके दोनो ने जान छुड़बाई ।फिर ऐसे उनकी शादी को 2 साल हो गए उनको एक बेटी भी हुई ।दशरथ भी अपनी जिम्मेदारियां समझ रहा था । रोज काम के लिये जाता ।उसकी बीबी फिर पेट से हुई ।एक दिन बो उस पहाड़ से पार काम पे गया था ।उसकी बीबी उसके लिए खाना ले के जा री थी ।तो उसको बो पहाड़ चढ़ के जाना था ।बो पेट से भी थी ।

तो जैसे बो पहाड़ चढ़ री थी उसका पैर फिसला और बह नीचे गिर गयी ।जैसे बो दशरथ को पता चला कि बो गिर गयी है बो भगता हुआ उसके पास आया  ।उसको बो लोग हस्पताल ले के गए रास्ता काफी दूर था लेकिन उनको पहाड़ चढ़ के जाना था तो बो गए और पहुंच गए । लेकिन उसको नही बचा पाए । पर उसके बच्चे को डॉक्टर ने बचा लिया । 
आगे की कहानी में बताएंगे कैसे दशरथ ने बो कर  दिखाया जो किसी के लिए भी करना  मुश्किल है। 
हस्ते रहिये मुस्कुराते रहिये 


Dashrath manji - A True Love story दशरथ मांजी एक सच्ची प्रेम कहानी Dashrath manji - A True Love story दशरथ मांजी एक सच्ची प्रेम कहानी Reviewed by Raj Kumar on February 21, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.