Sponsor

banner image

recent posts

Colonel sanders a true motivational story (hindi)

Colonel Sanders a true motivational story

ये काफी लंबे समय पहले की बात है ।एक बार एक आदमी था । बो अमेरिका से था । बो बहुत ही साधारण से परिवार से था ,उसके पापा खेती बाड़ी का काम करते थे। 
एक बार उसके पापा घर आए उनको काफी तेज बुखार था । गर्मियों के दीन थे । वो 5 साल का था तब ।उसने देखा उसके पीता को काफी दर्द हो रहा था लेकिन उसे समझ नी आ रहा था की क्या हो रहा है । 
डॉक्टर घर आए और बो दूर से देख रहा था कि उसकी मां रो रही थी । बो काफी डर गया क्यूंकि बो पहली बार अपनी मम्मी को रोता हुआ देख रहा था । कुछ समय बाद उसके पिता का देहांत हो गया । बो काफी छोटा था ये बात समझने के लिए की ये क्या हुआ ।लेकिन उसे उसकी जिंदगी में बो गर्मियों का दिन कभी नी भूला ।
उसके पापा के देहांत के बाद उसकी मम्मी ने कपड़ो की सिलाई का काम शुरू किया और साथ में फैक्टरी में भी काम करना शुरू किया । जब बो 7 साल का था ,उसने खाना बनाना सीखा ,अपने भाई बहनों का बोहि ख्याल रखता था क्यूंकि उसकी माँ  हर समय काम मे ब्यस्त रहती थी ।
एक बार उसने पहली बार ब्रेड बनाई उसे बो अपनी माँ को दिखाना चाहता था । लेकिन बो घर से 3 मील दूर फैक्टरी में काम कर रही थी । फिर उसने बो ब्रेड ली और अपने भाई बहनों को खिला दी ।
बो तीनो ही 3 मील दूर मम्मी की पास गए उस ब्रेड को दिखाने ।जैसे ही बो फैक्टरी पहुंचे अपनी मम्मी को ढूंढने लगे । उनकी मम्मी ने उनको दूर से देखा  उनके हाथ मे ब्रेड थी और चेहरे पे एक प्यारी सी मुस्कान थी । उनकी मम्मी  उनके पास आई और उस ब्रेड के टुकड़े को बच्चो लिया और ऊनको गले से लगा लिया।
जब बो 10 साल का हुआ उसने बगीचे में काम करना शुरू किया और साथ मे पेंटिंग का काम भी करने लगा । उसने स्कूल जाना भी छोड़ दिया और पूरा दिन काम करने लगा । ऐसे ही बो काम करता रहा ।फिर  कुछ समय के लिए  अमेरिकी आर्मी में भर्त्ती हो गया और फिर ट्रैन के कन्सट्रक्शन एरिया में काम करने लग पड़ा ।
बो 18 साल का था जब बो एक सुंदर लड़की से मिला । ऊन दोनो को एक दुसरे से प्यार हुआ और उसने उस लड़की से शादी कर ली । एक दिन उसे उसके काम से निकाल दिया । जब बो घर आया उसने देखा कि उसकी बीबी घर पे नहीं थी । बहां पे एक कागज रखा था । उसमे लिखा था कि बो ऐसे आदमी के साथ रह सकती जो कोई काम न करता हो । 
कुछ समय बाद उसने  पढ़ाई स्टार्ट करी और वो इन्शुरन्स कंपनी में सेल्समैन का काम करने लग पड़ा ।
फिर बो बैसे ही काम बदलने लगा । कभी ये जॉब कभी बो ।फिर उसने फेरी बोट का काम शूरू किआ ।और बो काम काफी अच्छा चला । उसने उस कंपनी के सारे शेयर बेच दिए । और बो इन्तज़ार करने लगा कुछ बड़ा करने का। फिर उसने आयल लैंप बनाने का काम शुरू किआ उसने कुछ सेल्समेन को रखा । उसका ये काम काफी अच्छा चलने  लग पड़ा ।
फिर बो खुस होते हुए बोला हाँ मेंने कर दिखाया । लेकिंन किस्मत ने तो कुछ और ही लिखा था उसके लिए ।
एक कंपनी थी देलक उन्होंने बिजली से चलने बाले लैंप बाजार में उतारे और आयल लैंप का काम फिर कम हो गया ।
फिर उसने टायर्स की कंपनी में सेल्समेन का काम शुरू किया । लेकिन वो टायर्स की कंपनी भी बंद हो गयी । फिर बो काम की तलाश में इधर उधर भटकने लग पड़ा । बो घर बापस आ रहा था लेकिन उसकी जेब में एक भी पैसा नही था ।बो लिफ्ट माँगने लग पड़ा । फिर एक आदमी रुका और उसे कार में बैठा लिया । उसने अपनी कहानी उस आदमी को बताई कैसे बो काम की तलाश में भटक रहा है। बो आदमी आयल कंपनी में मैनेजर था ।  उस आदमी ने उससे पूछा क्या तुम सर्विसेज स्टेशन चलना चाहोगे ।
उसे उस काम जरा भी अनुभव नही था ।  उसने हाँ बोल दिया । 6 सालो से बो उस काम को काफी अछे तरीके से चला रहा था । फिर उसकी  जिंदगी  में बो बुरा समय फिर आया उसका काम ये भी बंद हो गया । उसे कंपनी से आफर आया कि बो एक शेल कंपनी में सर्विसेज स्टेशन को चलाए। जब बो 40 साल का हुआ बो खाना बेचने का काम करने लगा। लोगों को उसका खाना बहूत पसंद आया । उसके बहा बैठने की जगह नही थी लेकिन उसके खाने को खाने के लिए आते थे ।
उसका काम काफी चला। फिर उसने एक होटल ख़रीद लिया। बो समय भी आया जब बो कामयाब बन गया ।जब बो 63 साल का हुआ उसे एक बड़ा झटका लगा जहा उसका रेस्टोरेंट था बही से एक रोड निकला और उसका सारा काम ठप हो गया । उसका रेस्टोरेंट उसकी आँखों के सामने बिक गया और बो कुछ नी कर पाया।ये उसकी जिंदगी की सबसे बड़ी असफलता थी। फिर उसने कोशिश करी ,उसने अपनी जिंदगी की असफलताओं से एक बात सीखी कभी हार मत मानो । फिर उसने अपनी रेसीपीज को रेस्टोरेंट में बेचना शुरू किया ।लोग बोलने लगे आप बूढ़े हो चुके हो आपको अब आराम करना चाहिए ।लेकिन उसने बोहि किआ सारी जिंदगी करता आया रुका नी बो । बो 2 सालों तक अपनी कार में ही रहा  लेकिन हर जगह नाकामयाबी ही मिली। उसको 1009 बार असफलता मिली । फिर बो 65 साल की उम्र में एक रेस्टोरेंट के मालिक से मिला और उसे एक डिश बना के दी ।
उस मालिक को बो अच्छी लगी और उसने हां कहा ।फिर उस। दिन के बाद उसके पूरी दुनिया में आज के समय में 20,000 से भी ज्यादा रेस्टोरेंट हैं । उसके पूरे साल की बिक्री 23 बिलियन डॉलर है । और बो सारे 20,000 रेस्टोरेंट बोही रेसप बना के लोगों को खिला रे हैं। और उस आदमी का नाम है कॉलोनेल सांडर्स बो KFC  के मालिक हैं। अगर बो जिंदगी में रुक जाते तो आज KFC   नहीं होता । ये कहानी हमे यही बात सिखाती है कुछ भी हो जाए हमे जिंदगी में कभी हार नी माननी चाहिए।
Colonel sanders a true motivational story (hindi) Colonel  sanders a true motivational story (hindi) Reviewed by Raj Kumar on March 26, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.